Importance of 9 Faced Rudraksh

  • Home
  • Blog
  • Importance of 9 Faced Rudraksh

Importance of 9 Faced Rudraksh

नौमुखी रुद्राक्ष का महत्व: Importance of 9 Faced Rudraksh

नौमुखी रुद्राक्ष बहुत महत्वपूर्ण है। यह भैरव भगवान से संबंधित है, इसकी अधिष्ठात्री देवी अंबा है और इसका स्वरुप अष्टमुखी रुपी कपिल है। यह रुद्राक्ष नौ देवियों के रूप में परिचयित है, जिसमें दुर्गा के नौ रूपों की शक्ति है।

The 9 mukhi Rudraksha holds significant importance. It is associated with Lord Bhairav, its ruling deity is Goddess Amba, and its manifestation is Kapil in the form of Ashtamukhi (eight faces). This Rudraksha represents the nine forms of Goddess Durga, encompassing the power of all nine forms.

नौमुखी रुद्राक्ष का मंत्र: ‘ह्रीं ह्रुं नमः’- 9 Mukhi Rudraksh Dharan Mantra

Mantra for wearing the 9 mukhi Rudraksha: ‘Om Hreem Hrung Namah

Read About : Rudraksh Origins and Religious Details

नौमुखी रुद्राक्ष के धारण के लाभ: 9 mukhi rudraksha benefits, Benefits of wearing the 9 mukhi Rudraksha

इससे वैवाहिक संबंधों में बाधाएं दूर होती हैं, प्रसन्नता के लिए सहायक होती है और व्यापार से जुड़ी समस्याओं को दूर करती है।

It removes obstacles in marriage, promotes fertility, and helps overcome business-related hurdles.

इसका धारणा राहु के अशुभ प्रभावों को कम कर सकता है और नेत्र रोग, त्वचा समस्याएं और अन्य स्वास्थ्य सम्बंधी समस्याओं में राहत प्रदान कर सकता है।

Wearing it can alleviate the malefic effects of Rahu and provide relief from eye ailments, skin problems, and other health issues.

एक बच्चे को नौमुखी रुद्राक्ष माला पहनाने से उसे श्वसन और आंख संबंधी बीमारियों से बचाने में मदद मिलती है।

When a child wears a 9 mukhi Rudraksha mala, it is believed to protect them from respiratory and eye-related illnesses

Read this also : 1 Mukhi 2 Mukhi 3 Mukhi 4 Mukhi 5 Mukhi 6 Mukhi 7 Mukhi 8 Mukhi

नौमुखी रुद्राक्ष का धारण करने की विधि: Procedure for wearing the 9 mukhi Rudraksha

राहु का दिन शनिवार होता है, इसलिए आपको इसे शनिवार को ही धारण करना चाहिए। शनिवार की सुबह उठें और स्नान करने के बाद अपने पूजा स्थल में पूर्व दिशा की ओर मुख करके बैठ जाएं। एक तांबे की प्लेट पर नौमुखी रुद्राक्ष रखें और इसे गंगाजल से छिड़कें।

As Saturday is associated with Rahu, you should wear this Rudraksha on a Saturday. After waking up on Saturday morning and bathing, sit facing the east direction in your place of worship. Place the 9 mukhi Rudraksha on a copper plate and sprinkle it with holy water (Gangajal).

‘ॐ ह्रीं ह्रुं नमः’ मंत्र को 108 बार जपें। फिर नौमुखी रुद्राक्ष को लाल या पीले रेशमी धागे में बांधकर गले या कलाई पर धारण करें। आप इसे चांदी या सोने की चेन में भी धारण कर सकते हैं।

Recite the ‘Om Hreem Hrung Namah’ mantra 108 times. Then, tie the 9 mukhi Rudraksha with a red or yellow silk thread and wear it around your neck or on your wrist. You can also wear it with a silver or gold chain.

Leave a Reply

Categories