21 Mukhi Rudraksha

  • Home
  • Blog
  • 21 Mukhi Rudraksha

21 Mukhi Rudraksha

इक्कीसमुखी रुद्राक्ष का महत्व ( importance of 21 mukhi rudraksha )

21 Mukhi Rudraksha: 21 मुखों वाला रुद्राक्ष कुबेर का प्रतिनिधित्व करता है और कुबेर की शक्तियां निहित होने के कारण जो भी इसे धारण करता है वह संसार की सभी सुख-समृद्धि और भोग-विलास का आनंद प्राप्त करता है।

The 21 Mukhi Rudraksha represents Lord Kubera, the God of wealth and prosperity. Anyone who wears this Rudraksha is believed to attain all the joys, prosperity, and worldly pleasures due to the presence of Kubera’s energies.

धारण मंत्र–’ह्रीं हूं शिव मित्राय नमः’

The mantra for wearing the 21 Mukhi Rudraksha is “Om Hreem Hoom Shiv Mitraya Namah.”

21 Mukhi Rudraksha Benefits :-

21 मुखी रुद्राक्ष तांत्रिक प्रभाव से बचाती है और इसका धारण करने से धन-दौलत और स्वर्ण-ऐश्वर्य मिलता है। धन और सोने की इच्छा रखने वालों को 21 मुखी रुद्राक्ष जरूर धारण करनी चाहिए। इसमें स्वयं भगवान शिव ने कुबेर की स्थापना की है। इसलिए जहां 21 मुखी रुद्राक्ष होती है, वहां धन, सोने और समृद्धि की कभी कमी नहीं होती। इस रुद्राक्ष में कुबेर के अलावा ब्रह्मा, विष्णु और महादेव का वास भी होता है। यह सबसे दुर्लभ मानी जाती है और धन और भौतिक सुख की प्राप्ति करने में सहायक होती है। इसके साथ ही इस रुद्राक्ष का धारण करने वाले को तांत्रिक प्रभावों से भी बचाती है।

The 21 Mukhi Rudraksha protects from negative tantric influences and brings wealth, abundance, and opulence. Those who desire wealth and luxury should wear the 21 Mukhi Rudraksha. It holds the blessings of Lord Shiva and Kubera. Hence, wherever this Rudraksha is present, there is never a shortage of wealth, gold, and prosperity. Besides Kubera, it also represents Lord Brahma, Lord Vishnu, and Lord Shiva. It is considered extremely rare and bestows abundance and material indulgence in abundance. It protects the wearer from tantric influences.

21 Mukhi Rudraksha Benefits:

इस रूद्राक्ष की एक मुख्य विशेषता है कि इसे गृहस्थ व्यक्ति यदि सुख-समृद्धि के उद्देश्य से धारण करते हैं, तो वे इच्छित फल प्राप्त करते हैं और यदि अध्यात्म मार्ग पर चलने वाला व्यक्ति 21 मुखी रूद्राक्ष धारण करता है, तो वह उच्च कोटि का साधक बनता है। धारण करने वाले को रुद्राक्ष से आध्यात्मिक और शारीरिक लाभ मिलते हैं।

The main specialty of this Rudraksha is that if a householder person wears it with the intention of attaining happiness and prosperity, they receive desired results. And if a person on the spiritual path wears a 21-faced Rudraksha, they become a practitioner of high order. According to beliefs, Rudraksha originated from Lord Shiva’s tears. It is believed to transmit positive energy and protect the wearer from difficulties. Let’s know the benefits of wearing it.

मान्यता के अनुसार, रुद्राक्ष का उद्भव भगवान शिव के नेत्रों से हुआ है। इसे धारण करने से सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है और धारण करने वाले को परेशानियों से बचाने में मदद मिलती है। रुद्राक्ष के धारण करने के कुछ लाभ निम्नलिखित हैं:

स्वास्थ्य लाभ: रुद्राक्ष धारण करने से शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य में सुधार होता है। यह तनाव को कम करने, मन को शांत करने और मानसिक स्थिरता प्रदान करने में मदद करता है।

Health Benefits: Wearing Rudraksha brings improvement in physical and mental health. It helps reduce stress, calms the mind, and provides mental stability.

समृद्धि और सफलता: रुद्राक्ष धारण करने से धन, समृद्धि और सफलता की प्राप्ति होती है। इससे व्यापार में वृद्धि, करियर में सफलता और उच्च स्तर की प्राप्ति होती है।

Wealth and Success: Wearing Rudraksha leads to the acquisition of wealth, prosperity, and success. It brings growth in business, career success, and achievements at higher levels.

गृह दोष निवारण: रुद्राक्ष गृह दोषों को निवारण करने में मदद करता है और परिवार में शांति और सुख-शांति का संरक्षण करता है।

Removal of Malefic Effects: Rudraksha helps in neutralizing the malefic effects of planets and ensures peace and harmony in the family.

आत्मविश्वास और धैर्य: रुद्राक्ष धारण करने से व्यक्ति को आत्मविश्वास और धैर्य की प्राप्ति होती है, जिससे वह जीवन के चुनौतियों का सामना कर सकता है।

Confidence and Patience: Wearing Rudraksha boosts self-confidence and patience, enabling a person to face life’s challenges.

ध्यान और मेधा: रुद्राक्ष धारण करने से मन को शांत करने और ध्यान में स्थिरता प्राप्त होती है। इससे संवेदनशीलता, मेधा और अन्तरंग विकास होता है।

Meditation and Concentration: Rudraksha helps in calming the mind and attaining focus during meditation, enhancing sensitivity, intellect, and inner development.

ध्यान रहे कि रुद्राक्ष के धारण करने के लिए उपयुक्त विधि और नियमों का पालन करना आवश्यक होता है ताकि इसके लाभ पूर्ण रूप से प्राप्त हो सकें। सर्वप्रथम, इसे खरीदते समय प्रमाणित विक्रेता से खरीदना चाहिए और धारण करने के पहले इसे शुद्ध करना अत्यंत महत्वपूर्ण है।

It is important to follow the appropriate methods and rules for wearing Rudraksha to obtain its full benefits. Firstly, it is essential to buy it from a certified seller and purify it before wearing.

Please note that the benefits mentioned above are based on beliefs and traditional practices. It is always good to consult with a knowledgeable person before adopting any spiritual or healing practices.

21 Mukhi Rudraksha Benefits: 21 Mukhi Rudraksh ke Fayde Hindi me

 यह रुद्राक्ष कल्पना से परे जाता है, नाम, प्रसिद्धि और धन प्रदान करता है। 21 मुखी रुद्राक्ष का स्वामी ग्रह शुक्र है, जो व्यक्ति को सभी प्रकार के नकारात्मक प्रभाव से बचाता है। यह जीवन में सभी बाधाओं को दूर करता है और परिवार के स्वास्थ्य और धन की रक्षा करता है। यह व्यक्ति को समृद्धि और सौभाग्य लाता है, जिससे पहनने वाले को सच्चा और ईमानदार बनाता है।

This Rudraksha goes beyond imagination, providing name, fame, and wealth. The ruling planet of the 21-faced Rudraksha is Venus, and it protects a person from all kinds of negative influences. It eliminates all obstacles in life and safeguards the family’s health and wealth. It brings prosperity and fortune to one’s life, making the wearer truthful and honest.

इसका विश्वास है कि इस रुद्राक्ष को पहनने से गरीब व्यक्ति भी धनवान बन सकता है। यह बीमारियों को ठीक करने में मदद करता है और पहनने वाले के आत्मविश्वास को बढ़ाता है। यह पहनने वाले के सुखों और भौतिकवादी इच्छाओं को पूरा करने में मदद करता है।

It is believed that even a poor person can become wealthy by wearing this Rudraksha. It helps in curing illnesses and boosts the wearer’s self-confidence. It fulfills the wearer’s desires for happiness and materialistic pursuits.

One thought on “21 Mukhi Rudraksha

  1. Very nice guru ji

Leave a Reply

Categories