शरीर पर छिपकली तथा गिरगिट गिरने का फल | Sarir Pe Chipkali Girne ka Matlab

  • Home
  • Blog
  • शरीर पर छिपकली तथा गिरगिट गिरने का फल | Sarir Pe Chipkali Girne ka Matlab
chipkali

शरीर पर छिपकली तथा गिरगिट गिरने का फल | Sarir Pe Chipkali Girne ka Matlab

शरीर पर छिपकली तथा गिरगिट गिरने का फल:

“इस लेख में, हम शरीर पर छिपकली और गिरगिट के गिरने के कारण और इससे बचाव के तरीके पर चर्चा करेंगे। यह जानकारी आपके स्वास्थ्य को सुरक्षित रखने में मदद करेगी। किसी भी प्रश्न के लिए हमसे पूछें और अपने स्वास्थ्य को सुरक्षित रखने के लिए कदम उठाएं।”

सिर पर छिपकली गिरने से राज्य लाभ,

ललाट पर बन्धु दर्शन,

दोनों भौहों पर बड़े लोगों से मित्रता,

सिर पर छिपकली गिरने से राज्य लाभ,

ललाट पर बन्धु दर्शन,

दोनों भौहों पर बड़े लोगों से मित्रता,

ऊपर के ओठ पर धनहानि,

नीचे के ओठ पर ऐश्वर्य प्राप्ति,

ये भी पढ़ें : कबूतर का घर में आना क्या संकेत देता है?

नाक पर रोग,

दाहिने कान पर आयु-वृद्धि,

बांये कान पर धन-प्राप्ति.

दोनों आँख पर धन लाभ,

ये भी पढ़ें : उल्लू का दिखना शुभ है या अशुभ

दाहिनी मुजा पर नृपतुल्यता,

बाँयी भुजा पर राज्यभय,

कण्ठ पर शत्रुनाश,

दोनों स्तनों पर दुर्भाग्य,

पेट पर भूषण-लाभ,

पीठ पर बुद्धिनाश,

घुटने पर शुभ-आगमन,

जपा पर शुभ,

दोनों हाथों पर वस्त्रलाभ ,

कन्धों पर विजय,

नासिका (नाक) छिद्रों पर धनप्राप्ति,

कमर पर हाथी-घोड़ा आदि की सवारी का लाभ,

दायें मणिबन्ध पर कीर्ति-विनाश,

हृदय पर धनलाभ,

मुख पर मिष्ठानभोजन,

गुल्फ पर बन्धन-प्राप्ति,

दाड़ी पर मृत्य दहिने पैर पर गमन,

बाँये पैर पर नाश,

पैर के कर मृत्यु तुल्य कष्ट।

विशेष :

सोमवार, बुधवार, गुरुवार एवं शुक्रवार को, प्रतिपदा, द्वितीया,पञ्चमी, षष्ठी, दशमी, एकादशी तथा द्वादशी तिथियों में, पुष्य, अश्विनी, रोहिणी, मृगशिरा, उत्तराफाल्गुनी, पुनर्वसु, हस्त, स्वाती, अनुराधा, धनिष्ठा, शतभिष और रेवती नक्षत्रों में पुरुषों के दाहिने अंग तथा स्त्रियों के बाँयें| अंग पर छिपकली का गिरना शुभप्रद होता है। जन्म-नक्षत्र, मृत्यु योग, दग्ध योग तथा भद्रा में, पापग्रह युक्त लग्न हो तथा चन्द्रमा आठवें हों तो छिपकली का गिरना अशुभ फलदायक होता है।

उपाय:

इसकी शान्ति के लिए वस्त्र सहित स्नान कर तिल, उड़द का दान, शिव मन्दिर में दीपदान एवं स्वर्ण-दान अथवा मृत्युजय मन्त्र ‘ॐ हौं जूं सः’ तथा शिव का षडक्षर मन्च ‘ॐ नमः शिवाय’ का जप एक हजार लाभदायक सिद्ध होता है l

नोट-छिपकली गिरने का जो फल होता है, वहीं फल शरीर पर गिरगिट चढ़ने का भी होता है।

घरेलू बचाव उपाय:

अपने घर को स्वच्छ रखें, खासतर रसोई और बाथरूम क्षेत्र।

खाद्य सामग्री को संरक्षित रखें और खुले खाने से बचें।

छिपकली और गिरगिट के आने के स्थानों को सील करें।

घर के आस-पास वृक्षों को काटने और नालों को साफ रखने का ध्यान रखें।

उपयोगी औषधि: छिपकली द्वारा बचाव के लिए कॉक्रोच बेटल मारक (कॉक्रोच बैटल बैटल) जैसी उपयोगी औषधियों का उपयोग करें।

बाजार में उपलब्ध गिरगिट रिपेलेंट स्प्रे का उपयोग करें।

नियमित जांच: घर में नियमित रूप से छिपकली और गिरगिट के आवागमन की जांच करें और उन्हें तुरंत हटा दें।

प्रश्न 1: शरीर पर छिपकली तथा गिरगिट के गिरने का क्या फल होता है?

उत्तर: शास्त्रों में मान्यता है कि शरीर पर छिपकली या गिरगिट के गिरने का फल आपके भविष्य में होने वाली घटनाओं का संकेत हो सकता है। यह घटनाएं आपके जीवन के विभिन्न क्षेत्रों जैसे स्वास्थ्य, धन, संबंध आदि से जुड़ी हो सकती हैं।

प्रश्न 2: शरीर पर छिपकली के गिरने का क्या मतलब होता है?

उत्तर: शरीर पर छिपकली के गिरने का मतलब विभिन्न धार्मिक और ज्योतिषीय परंपराओं के अनुसार अलग-अलग हो सकता है। यह मतलब आपके जीवन के विभिन्न पहलुओं में बदलाव, संकेत या समस्याओं की ओर इशारा कर सकता है।

प्रश्न 3: छिपकली के गिरने के कुछ आम मतलब क्या होते हैं?

धन की वृद्धि: छिपकली के गिरने को धन की वृद्धि का संकेत माना जा सकता है। यह आपके धन संबंधी मुद्दों का समाधान करने या आपको आर्थिक लाभ प्रदान करने की संभावना दर्शा सकता है।
यात्रा का संकेत: छिपकली के गिरने को यात्रा का संकेत माना जा सकता है। इसका मतलब हो सकता है कि आपको जल्द ही किसी यात्रा पर जाने का अवसर मिलेगा।
संबंधों में परिवर्तन: छिपकली के गिरने को संबंधों में परिवर्तन का संकेत माना जा सकता है। यह आपके प्रेम संबंधों, दोस्ती या परिवार में आए बदलाव की संभावना दर्शा सकता है।

प्रश्न 4: गिरगिट के गिरने का क्या मतलब होता है?

उत्तर: गिरगिट के गिरने का मतलब विभिन्न परंपराओं और लोकव्यवहारों के अनुसार अलग-अलग हो सकता है। यह मतलब आपके जीवन में नए या अनुप्राप्त होने वाले अच्छे संकेतों का हो सकता है या फिर आपको आगामी समय में सफलता और खुशहाली की संभावना दर्शा सकता है।

प्रश्न 5: क्या यह वास्तु और ज्योतिष विज्ञान के आधार पर है?

उत्तर: हां, यह वास्तु और ज्योतिष विज्ञान के आधार पर विचार किया जाता है। वास्तु और ज्योतिष शास्त्रों में इस प्रकार के छिपकली और गिरगिट के गिरने को विभिन्न परिणामों और प्रभावों का संकेत माना जाता है।

Leave a Reply

Categories