16 Mukhi Rudraksha

  • Home
  • Blog
  • 16 Mukhi Rudraksha

16 Mukhi Rudraksha

षोडशमुखी रुद्राक्ष का महत्व ( importance of 16 Mukhi Rudraksha)

16 Mukhi Rudraksha सोलह मुखों वाला यह rudraksha महाकाल स्वरुप से संबंधित है। इसे धारण करने वाले काल भय से मुक्त रहते है। मान्यता तो यह भी है कि इसे धारण करने से सर्द मौसम में भी ठण्ड का एहसास नहीं होता है।

धारण मंत्र-‘ॐ हौं जूं सः’

षोडशमुखी रुद्राक्ष का धारण करने से धार्मिक और आध्यात्मिक उन्नति होती है। यह रुद्राक्ष व्यक्ति को मानसिक शांति और आत्म-विश्वास की प्राप्ति करने में सहायक होता है। इसके प्रभाव से व्यक्ति को मानसिक चंचलता और स्वार्थपरता का नाश होता है।

Wearing the sixteen-faced Rudraksha leads to spiritual and divine growth. It aids in attaining mental peace and self-confidence. Its influence helps eradicate mental agitation and selfishness.

षोडशमुखी रुद्राक्ष का धारण करने से संतान सुख में वृद्धि होती है और पुत्र संतान की प्राप्ति होती है। यह रुद्राक्ष विवाहित जोड़े के बीच प्रेम और सम्बंध को मजबूत बनाता है और पति-पत्नी के बीच विश्वास और सम्मान को बढ़ाता है।

Wearing the sixteen-faced Rudraksha enhances the happiness and prosperity of progeny and facilitates the birth of a son. It strengthens love and bonds between married couples and fosters trust and respect between husband and wife.

इस रुद्राक्ष का धारण करने से शारीरिक और मानसिक रूप से संतुलन बना रहता है। यह व्यक्ति को दैवी शक्ति और अद्भुत ऊर्जा की प्राप्ति करवाता है। इसका धारण करने से व्यक्ति को स्वास्थ्य, समृद्धि, और शक्ति की प्राप्ति होती है।

This Rudraksha maintains physical and mental equilibrium in the wearer. It grants divine power and incredible energy. Wearing it results in good health, wealth, and strength.

षोडशमुखी रुद्राक्ष धारण करने से धन और सम्पत्ति में वृद्धि होती है। यह धारण करने वाले को धनी बनाने में सहायक होता है और उसे आर्थिक समस्याओं से निजात मिलती है। व्यापार और नौकरी में सफलता प्राप्त करने के लिए भी यह रत्न उपयुक्त होता है।

Wearing the sixteen-faced Rudraksha leads to an increase in wealth and prosperity. It assists the wearer in becoming wealthy and overcoming financial difficulties. It is also suitable for achieving success in business and employment.

षोडशमुखी रुद्राक्ष के धारण से व्यक्ति को स्वप्नदोष और नींद की समस्याएं से राहत मिलती है। यह रुद्राक्ष व्यक्ति को अध्ययन और ध्यान में लगने में सहायक होता है और उसकी मेधा शक्ति को वृद्धि करता है।

Wearing the sixteen-faced Rudraksha provides relief from nocturnal emissions and sleep-related problems. It aids the wearer in concentrating and meditating, enhancing their intellectual prowess.

षोडशमुखी रुद्राक्ष को पाने के लिए व्यक्ति को पूर्ण श्रद्धा और भक्ति के साथ इसका उपयोग करना चाहिए। इसे पाने के लिए व्यक्ति को प्रतिदिन इसका जाप करना चाहिए और शिव मंदिर में जाकर इसे पूजन करना चाहिए। इस रुद्राक्ष का धारण करने से व्यक्ति को मानसिक शक्ति, स्वास्थ्य, समृद्धि, और सफलता की प्राप्ति होती है।

To obtain the sixteen-faced Rudraksha, one must wear it with complete faith and devotion. Daily chanting of its mantra and worshiping it in a Shiva temple is recommended. Wearing this Rudraksha bestows mental strength, health, prosperity, and success upon the wearer.

One thought on “16 Mukhi Rudraksha

  1. Nice information 👍👍

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Categories

Open chat
💬 Need help?
Namaste🙏
How i can help you?